Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Header Ad

Breaking News

latest

महिला दारोगा ने कैराना कोतवाल पर लगाए गंभीर आरोप

    कैराना कोतवाली में तैनात एक महिला दारोगा ने कोतवाली प्रभारी पर ड्यूटी के दौरान उत्पीड़न करने का आरोप गंभीर लगाते हुए पुलिस अधिकारियों से ...

 

 


कैराना कोतवाली में तैनात एक महिला दारोगा ने कोतवाली प्रभारी पर ड्यूटी के दौरान उत्पीड़न करने का आरोप गंभीर लगाते हुए पुलिस अधिकारियों से शिकायत की है। महिला दरोगा के इस उत्पीड़न संबंधी आरोप का वीडियो भी सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया है, जिससे हड़कंप मच गया है। मामला बढ़ने पर एसपी शामली नित्यानंद राय ने सीओ कैराना को इस मामले की जांच सौंप दी है।


जानकारी के अनुसार कैराना कोतवाली में तैनात महिला दरोगा एंटी रोमियो सेल की प्रभारी हैं मगर उनका आरोप है कि खुद उनके विभाग से जुड़े कैराना कोतवाल उनपर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के साथ-साथ ड्यूटी के बहाने उत्पीड़न तक कर रहे हैं।



महिला दरोगा का कहना है कि उनकी कांधला थाने से 25 जुलाई को कैराना कोतवाली में पोस्टिंग हुई थी, तभी से कोतवाली प्रभारी द्वारा अनुचित बातों और ड्यूटी के लिए उनके ऊपर अनावश्यक रूप से दबाव बनाया जा रहा है। आरोप लगाया कि कोतवाल की बात नहीं मानने पर बेड एंट्री या उल्टी रपट दर्ज करा दी जाती है। मामला बढ़ जाने के बाद अब एसपी शामली नित्यानंद राय ने इस मामले की जांच सीओ कैराना को सौंप दी है। उधर, इन आरोपों की बाबत जब कोतवाली प्रभारी के मोबाइल पर संपर्क कर उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो उनका फोन स्विच ऑफ पाया गया।


सोशल मीडिया पर कैराना कोतवाली में तैनात महिला दरोगा का एक वीडियो वायरल होना संज्ञान में आया है। इसमें महिला दरोगा द्वारा ड्यूटी को लेकर कोतवाली प्रभारी पर कुछ आरोप लगाए गए हैं। मामले की जांच सीओ कैराना को सौंप दी गई हैं। जांच रिपोर्ट के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।


नित्यानन्द राय, एसपी शामली



छात्राओं-महिलाओं को रोज करती हूं जागरूक, खुद मेरा किया जा रहा उत्पीड़न


शामली। मंगलवार शाम एसपी आवास पर अपनी पीड़ा सुनाने पहुंची महिला दरोगा ने कहा कि मैं एंटी रोमियो प्रभारी हूं। हर रोज स्कूलों कॉलेजों के साथ-साथ दूसरे स्थानों पर जाकर छात्राओं और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने व उनके सशक्तिकरण को मेरे द्वारा जागरूक किया जा रहा है, मगर खुद अपने विभाग के अधिकारी द्वारा मेरा उत्पीड़न किया जा रहा है। अब ऐसे हालात में कैसे आप किसी को आत्मनिर्भर बनने और सशक्त होने की सीख दे सकते हैं। जागरूकता कार्यक्रमों में मेरे योगदान को लेकर जिलाधिकारी के साथ-साथ कॉलेजों के संचालकों द्वारा भी मुझे सम्मानित किया जा चुका है, मगर मेरा दिल जानता है कि इस उत्पीड़न से मैं अंदर से खुद कितनी टूट चुकी हूं।


कोतवाल कहते हैं शॉपिंग करने चलो: महिला दरोगा



शामली। महिला दरोगा ने रुंधे गले और डबडबाई आंखों से अपना दर्द बयां करते हुए आरोप लगाया कि कैराना कोतवाली प्रभारी उन्हें गाली गलौज करने से लेकर अश्लील फब्तियां तक कसते हैं। वह मेरे पिता की उम्र के हैं और मुझसे वह कभी शॉपिंग करने के लिए साथ चलने को कहते हैं और कभी आवास पर आने को बोलते हुए आपत्तिजनक डिमांड तक करने लगते हैं। इन सब हरकतों से मैं पूरी तरह टूट चुकी हूं। सोशल मीडिया पर भी वीडियो बनाकर डालने के पीछे यही मकसद था की आला अधिकारियों को इस बात का अंदाजा हो जाए कि किस प्रकार कोतवाली प्रभारी द्वारा उनका उत्पीड़न किया जा रहा है।


मेरे आत्मघाती कदम की वजह लोगों को पता होनी चाहिए


शामली। पीड़ित महिला दरोगा का कहना है कि वह मानसिक रूप से इस कदर परेशान हो चुकी हैं कि कभी भी कोई आत्मघाती कदम उठा सकती हैं। उनका कहना है कि इन सब बातों को सार्वजनिक इसलिए किया जा रहा है ताकि लोगों को मेरे साथ अगर कोई अनहोनी हो जाए या वे खुद को खत्म कर लें तो इसकी वजह लोगों को मालूम होनी चाहिए। इधर-उधर की बातें करने की बजाय इस हकीकत को जानें कि किन परिस्थितियों और किस वजह से ऐसा कदम उठाना पड़ा।

Report update up news 9456820711

No comments