Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Header Ad

Breaking News

latest

कोरोना काल में लंबे इंतजार के बाद शनिवार को हुई IPL के 13वें सीजन की शुरुआत ।

UAE में खेले गए उद्घाटन मैच में धोनी की चेन्नई ने रोमांचक मुकाबले में रोहित की मुंबई को पांच विकेट से हरा दिया। 435 दिन बाद क्रिकेट के मैदान...

UAE में खेले गए उद्घाटन मैच में धोनी की चेन्नई ने रोमांचक मुकाबले में रोहित की मुंबई को पांच विकेट से हरा दिया। 435 दिन बाद क्रिकेट के मैदान में वापसी करने के बावजूद धोनी का जलवा बरकरार रहा और वे अपने पुराने रंग में नजर आए।


IPL2020


धोनी ने ना सिर्फ अपनी कप्तानी का लोहा मनवाया बल्कि एक बार फिर साबित किया कि क्यों डीआरएस को धोनी रिव्यू सिस्टम कहा जाता है।

दरअसल सैम करन के आउट होने के बाद धोनी बल्लेबाजी करने उतरे। उन्हें पहली गेंद पर बुमराह का सामना करना था।

बुमराह ने 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर धोनी को पटकी हुई गेंद फेंकी जिसपर धोनी ने बल्ला चला दिया। लेकिन गेंद विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक के हाथों में चली गई और कैच आउट की तेज अपील हुई। इसपर अंपायर ने भी हामी भरते हुए धोनी को आउट दे दिया। हालांकि धोनी इस फैसले से खुश नहीं दिखे और उन्होंने तुरंत ही डीआरएस का इस्तेमाल किया।

धोनी का अनुमान सही निकला और रिव्यू में गेंद कहीं भी बल्ले से नहीं टकराई और अंपायर को अपना फैसला पलटना पड़ा। हालांकि बावजूद इसके धोनी बल्ले से कोई योगदान नहीं दे पाए और दो गेंदों का सामना करते हुए बिना कोई रन बनाए नाबाद रहे।

वैसे मैच में एक वक्त ऐसा भी आया, जब धोनी का रिव्यू का फैसला सही साबित नहीं हुआ। वे ipl 2020 में डीआरएस लैने वाले पहले खिलाड़ी भी बने, लेकिन वह चूक गए। हालांकि ऐसे मौके कम ही आते हैं, लेकिन 13वें ओवर की चौथी गेंद पर धोनी का अंदाजा गलत निकला।

पीयूष चावला की गूगली को स्विप मारने के चक्कर में सौरभ तिवारी चूक गए। अंपायर ने सीएसके के खिलाड़ियों की आउट की अपील को नकार दिया। धोनी ने तुरंत रीव्यू लिया, लेकिन टीवी अंपायर ने फैसला बल्लेबाज के पक्ष में ही सुनाया।

No comments